नागालैण्ड

नागालैण्ड (नागालैंड) भारत का एक उत्तर पूर्वी राज्य है। इसकी राजधानी कोहिमा है, जबकि दीमापुर राज्य का सबसे बड़ा नगर है। नागालैण्ड की सीमा पश्चिम में असम से, उत्तर में अरुणाचल प्रदेश से, पूर्व मे बर्मा से और दक्षिण मे मणिपुर से मिलती है। भारत की 2011 की जनगणना के अनुसार, इसका क्षेत्रफल 16,579 वर्ग किलोमीटर है, और जनसंख्या 19,80,602 है, जो इसे भारत के सबसे छोटे राज्यों में से एक बनाती है।[2]

नागालैण्ड
Nagaland
भारत का राज्य

[[चित्र:|250px|center|]]

भारत के मानचित्र पर नागालैण्ड
Nagaland

राजधानी कोहिमा
सबसे बड़ा शहर दीमापुर
जनसंख्या 19,78,502
 - घनत्व119 /किमी²
क्षेत्रफल 16,579 किमी² 
 - ज़िले12
राजभाषा अंग्रेज़ी[1]
गठन 1 दिसम्बर 1963
सरकार नागालैण्ड सरकार
 - राज्यपालआर. एन. रवि
 - मुख्यमंत्रीनेफियू रियो
 - विधानमण्डलएकसदनीय
विधान सभा (60 सीटें)
 - भारतीय संसदराज्य सभा (1 सीट)
लोक सभा (1 सीट)
 - उच्च न्यायालयगुवाहाटी उच्च न्यायालय
(कोहिमा खंडपीठ)
डाक सूचक संख्या 797 और 798
वाहन अक्षर NL
आइएसओ 3166-2 IN-NL
www.nagaland.gov.in

नागालैण्ड राज्य में कुल 16 जनजातियाँ निवास करती हैं। प्रत्येक जनजाति अपने विशिष्ट रीति-रिवाजों, भाषा और पोशाक के कारण दूसरी से भिन्न है।[3] हालाँकि, भाषा और धर्म दो सेतु हैं, जो इन जनजातियों को आपस में जोड़ते हैं। अंग्रेजी राज्य की आधिकारिक भाषा है। यह शिक्षा की भाषा भी है, और अधिकाँश निवासियों द्वारा बोली जाती है। नागालैंड भारत के उन तीन राज्यों में से एक है, जहाँ ईसाई धर्म के अनुयायी जनसंख्या में बहुमत में हैं।[4][5]

राज्य ने 1950 के दशक में विद्रोह और साथ ही अंतर-जातीय संघर्ष देखा है। हिंसा और असुरक्षा ने नागालैंड के आर्थिक विकास को सीमित कर दिया था, क्योंकि इसे कानून, व्यवस्था और सुरक्षा के लिए अपने दुर्लभ संसाधनों को प्रतिबद्ध करना था।[6][7] हालाँकि पिछले डेढ़ दशक में, राज्य में हिंसा काफी कम हुई है, जिससे राज्य की वार्षिक आर्थिक विकास दर 10% के करीब पहुंची है, और यह पूर्वोत्तर क्षेत्र में सबसे तेजी से विकसित होने वाला राज्य बन पाया है।

नागालैण्ड की स्थापना 1 दिसम्बर 1963 को भारत के 16वें राज्य के रूप मे हुई थी। असम घाटी के किनारे बसे कुछ क्षेत्रों को छोड़कर राज्य का अधिकतर हिस्सा पहाड़ी है। राज्य के कुल क्षेत्रफल का केवल 9% हिस्सा समतल जमीन पर है। नागालैण्ड में सबसे उँची चोटी माउंट सरामति है जिसकी समुंद्र तल से उँचाई 3840 मी है। यह पहाड़ी और इसकी शृंखलाएँ नागालैंड और बर्मा के बीच प्राकृतिक अवरोध का निर्माण करती हैं।[8] यह राज्य वनस्पतियों और जीवों की समृद्ध विविधता का घर है।

इतिहास

इस राज्य का इतिहास बर्मा और असम से मिलता-जुलता है लेकिन कुछ मतों के अनुसार इस राज्य का नाम अंग्रेज़ों ने नागा (यह नाग लोगो की भूमि है हिन्दी मे) के अनुसार रखा था।भारत में नाग लोगो की संख्या बहुमत में है ये नाग लोग वैसे तो पूरे भारत में निवास करते हैं परंतु महाराष्ट्र और नागालैंड में इनके नाम से राज्य एवं जिले का नाम पड़ा है। सन 1832 में कैप्टन जेनकींस और पेंबर्टन के रूप में पहले यूरोपियन नागालैंड में आये थे। नागालैंड भारत का 1 दिसंबर 1963 में सोलवा राज्य बना।

राज्य का दर्जा

प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान अंग्रज़ो ने बहुत से नागा लोगों को युद्ध में लड़ने के लिए फ्रांस और यूरोप भेजा। जो लोग युद्ध में लड़ने बाहर गये और जब वे लोग भारत वापस आए तो उन्होने नागा नॅश्नलिस्ट मूवमेंट की स्थापना की थी।

भारत की आजादी के दौरान नागालेंड असम के अंतर्गत था लेकिन नागा लोग अपना विकास चाहते थे। इसी कारण से वे किसी केन्द्रीय सरकार से जुड़ना चाहते थे। सन् 1955 में भारत सरकार ने भारतीय सेना की एक टुकड़ी नागालेंड भेजी और सन् 1957 में भारत सरकार और नागा लोगों के बीच विलय की बातचीत शुरू हुए जिसके अन्तर्गत नागालैंड 1 दिसम्बर 1963 को भारत का 16वाँ राज्य बना।

धर्म

नागालैण्ड मे धर्म
धर्म प्रतिशत
ईसाई
 
88.1%
हिन्दु
 
8.74%
मुस्लिम
 
2.44%
अन्य†
 
0.5%
धर्मावल्मबियों का प्रतिशत
इसमें सिख, बौद्ध, जैन, जीववाद सम्मिलित हैं।

जिले

नागालैण्ड के जिले
नागा कन्या

नागालैंड में 11 जिले हैं -

रैंकमेट्रोपोलिटन/एग्लोमेरेशन क्षेत्रजिला2001 की जनगणना
1दीमापुर जिलादीमापुर जिला230,106
2कोहिमा जिलाकोहिमा जिला99,795
3मोकोक्चुुन्ग मेत्रोपोलितनमोकोक्चुुन्ग जिला60,161
4ग्रेटर वोखावोखा जिला43,089

संस्कृति

कोहिमा में हॉर्नबिल उत्सव

नागालैंड मे 16 जनजातियाँ पाई जाती है, अंगामी, आओ, चख़ेसंग, चांग, दिमासा कचारी, खियमनिंगान, कोनयाक, लोथा, फोम, पोचुरी, रेंगमा, संगतम, सूमी, इंचुंगेर, कुकी और ज़ेलियांग।

लोंगवा गाँव में एक प्रधान, नगालैंड

बाहरी कड़ियाँ

इन्हें भी देखें

  • नागालैंड का इतिहास

सन्दर्भ

  1. "Report of the Commissioner for linguistic minorities: 50th report (July 2012 to June 2013)" (PDF). Commissioner for Linguistic Minorities, Ministry of Minority Affairs, Government of India. मूल (PDF) से 22 मार्च 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 12 जुलाई 2017.
  2. Census of India 2011 Archived 7 फ़रवरी 2013 at the वेबैक मशीन. Govt of India
  3. Nagaland – State Human Development Report Archived 21 अगस्त 2014 at the वेबैक मशीन. United Nations Development Programme (2005)
  4. Population by religious communities Archived 1 जुलाई 2010 at the वेबैक मशीन. Census of India, 2001, Govt of India. The other jurisdictions with Christian majorities are Meghalaya and Mizoram.
  5. Gordon Pruett, Christianity, history, and culture in Nagaland, Indian Sociology, January 1974, vol. 8, no. 1, pp 51-65
  6. Charles Chasie (2005), Nagaland in Transition Archived 1 मई 2016 at the वेबैक मशीन., India International Centre Quarterly, Vol. 32, No. 2/3, Where the Sun Rises When Shadows Fall: The North-east (MONSOON-WINTER 2005), pp. 253-264
  7. Charles Chasie, Nagaland Archived 19 फ़रवरी 2014 at the वेबैक मशीन., Institute of Developing Economies (2008)
  8. C.V. Prakash (2006), Encyclopedia of Northeast India, Vol. 5, Atlantic Publishers, ISBN 978-8126907076, pp. 2180-2181
    This article is issued from Wikipedia. The text is licensed under Creative Commons - Attribution - Sharealike. Additional terms may apply for the media files.