जीववैज्ञानिक जीवन चक्र

जीववैज्ञानिक जीवन चक्र (biological life cycle), या केवल जीवन चक्र (life cycle), उन बदलावों का क्रम है जिसमें कोई जीव निकलता है और अंततः अपनी आरम्भिक रूप व स्थिति में लौट जाता है। जीव जन्मता है और आयु के साथ विकसित होता है और फिर प्रजनन कर के अगली पीढ़ी को जन्म देता है। अलग-अलग जीववैज्ञानिक जातियों का जीवन चक्र भी भिन्न होता है। किसी में प्रजनन लैंगिक होता है और किसी में अलैंगिक[1]

मच्छर का जीवनचक्र। वयस्क मच्छर अण्डे देता है, जो कई चरणों से गुज़रकर बड़ा होता है। प्रजनन जीवनचक्र को पूरा करता है।

इन्हें भी देखें

  • प्रजनन

सन्दर्भ

  1. Graham Bell & Vassiliki Koufopanou (1991). "The architecture of the life cycle in small organisms". Philosophical Transactions: Biological Sciences. 332 (1262): 81–89. डीओआइ:10.1098/rstb.1991.0035.
This article is issued from Wikipedia. The text is licensed under Creative Commons - Attribution - Sharealike. Additional terms may apply for the media files.