वाग्बाधा

वाक बाधा (अंग्रेज़ी: speech impediment) किसी मनुष्य की ऐसी स्थिति को कहते हैं जिसमें उसे आसानी से साधारण तरह से बातचीत करने में कठिनाई पेश आए। इसमें हकलाना, तुतलाना और अन्य प्रकार की वाकबाधाएँ शामिल हैं। ध्यान दें कि महज़ किसी के बोलने के अलग लहजे (ऐक्सेन्ट) को वाकबाधा नहीं कहा जा सकता। यदि कोई वाकबाधा पूर्ण रूप से या काफ़ी हद तक किसी को बोलने में असमर्थ करे तो उसे 'गूंगापन' (muteness) कहा जाता है। वाकबाधाएँ मानवों में आम पाई जाती हैं - उनके होने पर भी लोग सफल व सुखी जीवन जी सकते हैं और बहुत से उपचार भी उपलब्ध हैं। मसलन अध्ययन से पाया गया है कि अमेरिका के १% लोग, यानि ३० लाख अमेरिकी, हकलाते हैं।[1]

इन्हें भी देखें

सन्दर्भ

  1. Diseases and Disorders, pp. 499, Marshall Cavendish, 2007, ISBN 9780761477723, ... In the United States the prevalence of stuttering is about 1 percent of the general population, that is, around 3 million people ...
This article is issued from Wikipedia. The text is licensed under Creative Commons - Attribution - Sharealike. Additional terms may apply for the media files.