अंगदान

किसी जीवित या मृत व्यक्ति के शरीर का ऊतक या कोई अंग दान करना अंगदान (Organ donation) कहलाता है। यह ऊतक या अंग किसी दूसरे जीवित व्यक्ति के शरीर में प्रत्यारोपित (ट्रान्सप्लान्ट) किया जाता है। इस कार्य के लिये दाता के शरीर से दान किये हुए अंग को शल्यक्रिया द्वारा निकाला जाता है।

भारत में अंगदान की स्थिति

भारत में कार्निया दान की स्थिति काफी अच्छी है किन्तु 'मस्तिष्क मृत्यु' के बाद किये जाने वाले देह दान में बहुत धीमी गति से प्रगति हो रही है।

इस मानचित्र में भारत के उन राज्यों को दिखाया गया है जिनमें मृत प्रत्यारोपण (Deceased Donation Transplantation) किया गया है।
सारणी-१ - भारत में - 2012.
राज्यमृत दाताओं की संख्यानिकाले गये अंगों की संख्याअंगदाताओं की संख्या (प्रति १० लाख की जनसंख्या)
तमिलनाडु832521.15
Maharashtra29680.26
Gujarat18460.30
Karnataka17460.28
Andhra Pradesh13370.15
Kerala12260.36
Delhi-NCR12310.29
Punjab12240.43
Total1965300.16

स्रोत: Indian Transplant News Letter of MOHAN Foundation (Vol 2 Issue No. 37 of 2013)

The year 2013 has been the best yet for deceased organ donation in India. A total of 845 organs were retrieved from 310 multi-organ donors resulting in a national organ donation rate of 0.26 per million population(Table 2).

Table 2 - Deceased Organ Donation in India – 2013
StateTamil NaduAndhra PradeshKeralaMaharashtraDelhiGujaratKarnatakaPuducherryTotal (National)
Donor1314035352725182313
* ODR (pmp)1.800.471.050.311.610.410.291.60.26
Heart16260-01025
Lung20200-00022
Liver1183423232320160257
Kidney2347559534054294548
Total38811388766374464852

* ODR (pmp) – Organ Donation Rate (per million population)

सन्दर्भ

    इन्हें भी देक्खें

    बाहरी कड़ियाँ

    This article is issued from Wikipedia. The text is licensed under Creative Commons - Attribution - Sharealike. Additional terms may apply for the media files.